Bollywood मैं फिल्म इंडस्ट्री, politics और business में Nepotism सालों से चलता आ रहा है। फिल्म इंडस्ट्री में हमेशा से star kids vs outsider का गैंगवार चलते रहता है। छोटे परिवार अथवा पैसे वालों के घरों में से आया हुआ नहीं होता है, उसे उसे दुगना काबिलियत साबित करना होता है।

Nepotism in bollywood or nepotism mean in hindi
Nepotism in bollywood or nepotism mean in hindi

छोटे-छोटे एक्टर और डायरेक्टर को तू कई बार फिल्मों के लिए थिएटर नसीब नहीं होता और कई महीने पहले ही बड़े बड़े प्रोडक्शन हाउस वाले थिएटर को बुक कर लिया करते हैं। star kids कहीं से भी आए ना कोई उनका स्ट्रगल ना कोई छोटी मोटी टीवी सीरियल्स में काम ही सीधे बड़े एक्टर के साथ फिल्मों में लांच हो जाया करते हैं।

कई फिल्में का फ्लॉप होने के बावजूद भी इन्हें देखना पड़ता है क्योंकि इनकी एक्टिंग को हमारे सामने बार-बार परोसा जाता है, स्टार किड्स की एयरपोर्ट से लेकर जिम तक की फोटो को बार-बार दिखाया जाता है।

मीडिया द्वारा पैसों की बल पर बार-बार दिखाया जाता है इसके बावजूद यह हवा बनाया जाता है एक मशीनरी पूरी तरह से लगा हुआ होता है कि बार-बार आपको स्टार किड्स के बारे में दिखाया जाए ताकि आदत सा आप सबों को इसकी हो जाए।

Nepotism ( भाई भतीजावाद) क्या होता or क्या है नेपोटिज्म

Nepotism राजनीति शब्दावली है, इसमें योगिता को नजरअंदाज कर, जो योग्य नहीं है अयोग्य परिजनों को उच्च पदों पर आसीन कर दिया करते हैं। नेपोटिज्म शब्द की उत्पत्ति कैथोलिक विशप द्वारा अपने को उच्च पदों पर आसीन कर दिए जाने से हुआ।

उसके बाद धीरे-धीरे नेपोटिज्म की धारणा को व्यवसाय, धर्म क्षेत्र और मनोरंजन आदि क्षेत्रों में भी इस तरह का बल मिलने लगा। हाल में देखने से पता चलता है कि कंगना राणावत के केस से और सैफ अली खान के केस nepotism शब्द के कारण ही काफी बातें उठाई गई हैं।

नेपोटिज्म का मुद्दा भारत में बार-बार अक्सर उठाया जाता रहा है इस रिपोर्ट के चक्कर में एक्टर सुशांत सिंह राजपूत सूली पर चढ़ गए बीते कुछ दिन पहले की बात है (फिल्म इंडस्ट्रीज, पॉलिटिक्स और बिजनेस में बहुत सालों से फलता फूलता आ रहा है भाई-भतीजावाद (परिवारवाद) का नाम इसलिए यहां काफी आम सा होता जा रहा है ऐसा प्रतीत हो रहा है।

वैसे देखा जाए तो एक्टर जितेंद्र जिनका एक और नाम रवि कपूर भी है, इनका बेटा तुषार कपूर को सबसे बड़ा एग्जांपल के रूप में समझा जा सकता है। इसे आप कपूर खानदान की संज्ञा दे सकते हैं, तुषार कपूर की हिट फिल्में से ज्यादा फ्लॉप फिल्म रहा है।

फिर भी मीडिया द्वारा हम लोगों को दिखाया जाता रहा है, दूसरी तरफ देखा जाए तो तुषार कपूर की बहन एकता कपूर ekta kapoor का अगर बात किया जाए तो टीवी स्क्रीन पर इन्होंने एकाधिकार सर कर लिया है। कोई भी पॉपुलर धारावाहिक आप उठाकर देखें तो उसमें एकता का नाम सामने आएगा।

एकता कपूर किसी में वो प्रोड्यूसर और किसी में वो डायरेक्टर मिलेंगी, उदाहरण स्वरूप हम पांच,सास भी कभी बहू थी, पवित्र रिश्ता, जोधा अकबर, कहानी घर घर की, कसौटी जिंदगी की, नागिन, कुमकुम भाग्य, कुंडली भाग्य आदि जैसे most popular show के पीछे एकता कपूर का हाथ है।

Alt balaji में प्रसारित होने वाला ek show xxx season 2 मैं एक इंडियन आर्मी के बारे में आपत्तिजनक बातें दिखाई वह बताई गई थी, इसकी बहुत आलोचना की जा रही है जिसके लिए हिंदुस्तानी भाऊ ने केस भी दर्ज करवा रखा है कहा जा रहा है कि एकता कपूर को माफी मांगनी होगी।

कहा जा रहा है कि भारतीय संस्कृति का सत्यानाश करने का ठेका एकता कपूर जोकि स्टार किड्स हैं इन्होंने ले रखा है। मॉडर्न महाभारत को लेकर एकता पर मुकेश खन्ना एक्टर भड़के और बोले “संस्कृति को मॉडर्न करोगी खत्म हो जाओगी”।

Nepotism हैं अर्जुन कपूर व जानवी कपूर

अर्जुन कपूर और जानवी कपूर दोनों भाई बहन हैं यह फ़िल्म निर्देशक प्रोड्यूसर बोनी कपूर और अभिनेत्री श्रीदेवी के परिवार से जुड़े हुए हैं। अर्जुन कपूर फिल्म “इश्कजादे” से और जानवी कपूर फिल्म “धड़क” से बॉलीवुड के फिल्मी करियर में कदम रखा है। दोनों का ही एक्टिंग एवरेज काफी है खराब कहा जा सकता है इसके बावजूद हम सबों को इनकी मूवी देखनी पड़ती है।

कौन है आलिया भट्ट (nepotism)

आलिया भट्ट बॉलीवुड डायरेक्टर महेश भट्ट की पुत्री हैं सूत्रों द्वारा पता करने पर बताया गया कि इनका सिटीजनशिप भारतीय नहीं बल्कि ब्रिटिश है।

Nepotism के बादशाह कौन

Bollywood में Nepotism के बादशाह या जन्मदाता माने जाने वाले शख्स करण जौहर के फिल्म “स्टूडेंट ऑफ द ईयर”में आलिया भट्ट लीड रोल में दिखाई दिए। वहीं दूसरी तरफ वरुण धवन जो कि डेविड धवन के बेटे हैं, वह भी स्टूडेंट ऑफ द ईयर फिल्म में दिखाई दिए।

Nepotism में देखा जाए तो आलिया भट्ट की एक्टिंग तो ठीक-ठाक कर लेती हैं, लेकिन यह नेपोटिज्म के ही प्रोडक्ट हैं, वरुण आज भी इनसे बेहतर एक्ट्रेस कतार में खड़े हैं, कि कब उन्हें भी मौका मिले बहुतों ने तो बड़े-बड़े एक्टर, डायरेक्टर, प्रोड्यूसर के एहसान तले दबकर एक्ट्रेस अपना करियर को जारी रखा है।

Nepotism in hindi (भाई – भतीजावाद)

रणबीर कपूर जो कि हाल ही में निधन हुए ऋषि कपूर के पुत्र हैं, उन्होंने एक्सेप्ट भी किया है कि वह नेपोटिज्म एक यही भाग हैं। इन्हें सीधे तौर पर संजय लीला भंसाली की फिल्म सांवरिया से लांच किया गया था। इन्हें बेहद आसान एंट्री मिल जाती है, इस फिल्म के दौरान एक actress जोकि nepotism के ही भाग सोनम कपूर जिनके पिता अभिनेता अनिल कपूर हैं।

सांवरिया फिल्म से रणबीर कपूर और सोनम कपूर बॉलीवुड फिल्म में कदम रखे, यूं तो सांवरिया फिल्म फ्लॉप रहने के बावजूद सोनम कपूर और रणबीर कपूर का करियर फलता फूलता रहा यह nepotism नहीं है तो और क्या है।

क्या श्रद्धा कपूर नेपोटिज्म है

शक्ति कपूर की बेटी होने की वजह से श्रद्धा कपूर को भी नेपोटिज्म का काफी फायदा मिला है, वर्ष 2010 में महानायक अमिताभ बच्चन के साथ फिल्म तीन पत्ती (Teen Patti) में श्रद्धा कपूर को लांच किया गया। nepotism means भाई भतीजावाद होता है।

टाइगर श्रॉफ किनके पुत्र हैं

टाइगर श्रॉफ जैकी जैकी श्रॉफ के पुत्र हैं इन्हें एक्टिंग से ज्यादा उछल कूद करने में विश्वास करते हैं, टाइगर श्रॉफ के चेहरे पर कोई भाव नहीं होता है न ही एक्टिंग के लक्षण दिखाई देते हैं बावजूद इनके इन्हें फिल्म लगभग मिलते जाते हैं,नेपोटिज्म की वजह से ऐसा होता है।

भाई भतीजावाद क्या है

भाई भतीजावाद द्वारा ही टाइगर श्रॉफ को फिल्म हीरोपंति द्वारा लांच किया गया था सबीर खान का फिल्म हीरोपंती (Heropanti) से टाइगर श्रॉफ का कार्य शुरू होता है। सारा अली खान के पिता सैफ अली खान जिसके वजह से फिल्म में इंट्री करने में कोई भी परेशानी नहीं हुई।

केदारनाथ मूवी से इनकी कैरियर शुरू हो जाती है जिसमें एक्टर के रूप में उस दिन पहले निधन हुए सुशांत सिंह राजपूत हैं। देखा जाए तो सैफ अली खान पीन नेपोटिज्म के ही भाग हैं, वजह पटौदी और टैगोर फैमिली से यह नाते रखने के कारण ऐसा माना जा रहा है। भाई भतीजावाद खूब फायदा मिला है सोनाक्षी सिन्हा को भी जोकि एक्टर शत्रुघ्न सिन्हा की पुत्री हैं यह चीजें एक्टर सलमान खान के साथ दबंग मूवी में नजर आई।

अभिषेक बच्चन के बारे में तो जानते ही हैं इनके बारे में सबको पता है कि यह महानायक अमिताभ बच्चन के पुत्र हैं लूडो और बिगबुल जैसी मूवी इन का थिएटर में आने वाला है। इनके बारे में लगता है कि अभी और झेलना बाकी है।

उदय चोपड़ा ने nepotism के खिलाड़ी कैसे

Uday chopra nepotism एक ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने सिर्फ असफलता का ही स्वाद चखा है, एक्टिंग स्किल देखा जाए तो जीरो है लेकिन यह यशराज फिल्म के संस्थापक यशराज चोपड़ा के बेटे होने के नाते उदय चोपड़ा की फिल्मों पर काफी पैसे बर्बाद किए ताकि यह सफल एक्टर बन सके लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। यश राज चोपड़ा के सात डायरेक्टर प्रोड्यूसर करण जौहर का नाम भी जुड़ा हुआ है जो रिश्ते में इनके भतीजे हैं।

दो चार परिवारों का जमघट फिल्म इंडस्ट्री में

हर पांच में चार किसी ना किसी के रिश्ते के साथ किसी ना किसी से जुड़ा हुआ है करण जौहर को नेपोटिज्म का फ्लैग वेरर कहा जाता है, करण जौहर “कॉफ़ी विद करण” जौहर के जरिए स्टार किड्स के बच्चे को एक launching platform प्रदान करते रहे हैं.

Nepotism में सबसे बड़ा नाम

नेपोटिज्म में सबसे बड़ा नाम सलमान खान का आता है, जिन्हें अक्सर लोग समझ नहीं पाते हैं सलमान खुद अपने चहेते को दिन-ब-दिन फिल्म में लांच करते रहते हैं इनके द्वारा रिलेटिव और स्टार kids होते हैं, बॉलीवुड प्रोड्यूसर और स्क्रीन डायरेक्टर सलीम खान के बेटे हैं सलमान खान। कहा जाता है कि “इनके फिल्म को देखो लेकिन दिमाग घर छोड़ कर आओ”।

नेपोटिज्म में कई और एक्टर के नाम हैं

नेपोटिज्म में कई भरे ऐसे नाम हैं जैसे कि आमिर खान,इमरान खान, अनन्या पांडे शाहिद कपूर, इमरान हाशमी, फरहान अख्तर, रितिक रोशन, अजय देवगन जैसे और भी नाम नेपोटिज्म के हैं, जो किसी न किसी कारण से nepotism के भाग रहे हैं। नेपोटिज्म के एक्टर मैं बहुत ऐसे हैं जो कि काफी अच्छी एक्टिंग भी कर लिया करते हैं इसमें कोई शक नहीं है।

Nepotism ने लिया कैसे cancer का रूप

आज की तारीख में नेपोटिज्म बॉलीवुड में कैंसर का रूप ले चुका है जिसका परिणाम के वजह से मुट्ठी भर लोग यह डिसाइड कर लेते हैं कि फिल्म इंडस्ट्री में कौन रहेगा और कौन नहीं रहेगा जबकि यह डिसाइड करना हम लोगों के हाथों में होनी चाहिए थी। भाई भतीजावाद के उलट कई ऐसे एक्टर एक्ट्रेस हैं जो केवल अपने दम पर मुंबई फिल्म इंडस्ट्री में टिके हुए हैं।

अपनी जगह बनाने में सफल हुए हैं जिसे आउटसाइडर कहा जाता है जिसमें स्वर्गीय एक्टर सुशांत सिंह राजपूत, स्वर्गीय अभिनेता इरफान खान, राजकुमार राव आयुष्मान खुराना, मनोज बाजपेई, कपिल शर्मा, पंकज त्रिपाठी, जॉन अब्राहम , रितेश देशमुख, अर्जुन रामपाल, तापसी पन्नू, जैकलिन फर्नांडीस, कंगना राणावत , विद्या बालन , अक्षय कुमार, सिद्धार्थ मल्होत्रा, कृति सेनन, अनुष्का शर्मा, नवाजुद्दीन सिद्दीकी, दीपिका पादुकोण, प्रियंका चोपड़ा, शाहरुख खान जैसे और भी कई ऐसे एक्टर और एक्ट्रेस हैं।

जिन्होंने अपनी एक्टिंग स्किल से लोगों के दिलों में अपनी पहचान बनाकर अपना छाप छोड़ रखा है, नेपोटिज्म पर पल रहे बच्चे की फिल्म देखो अथवा ना देखो यह आपकी अपनी चॉइस है, लेकिन स्ट्रगल एक्टर को भी जाने अनजाने में अनदेखा ना करें सुशांत सिंह राजपूत की मौत का अफसोस अगर है। तो ऐसा करना पड़ेगा यह आप सब पर निर्भर करता है की “राजा का बेटा राजा नहीं बनेगा बल्कि जो हकदार होगा वही राजा बनेगा”।

Nolshi News यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे घर घर तक पहुंचा दीजिए कैसे आप जानते हैं?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here