Cross leg कर बैठना खतरनाक हो सकता है

यूं तो stylish और Body language की बात करें तो इस तरह से बैठने में पाया जाता है आप कितना आत्मविश्वास से भरे है। इस तरह की सहजता हमारे जीवन के लिए खतरनाक हो सकता है, एक्सपर्ट का भी कहना है बहुत देर तक अगर आप पैर के ऊपर पैर चढ़ाकर बैठते हैं तो इससे blood pressure वेरीकोज Vains जैसी समस्या उत्पन्न होने लगती है।

Cross leg कर बैठना खतरनाक हो सकता है


ब्लड प्रेशर पर असर क्रॉस लेग से होता है

नाच पर दबाव पड़ता है अगर लगातार हम एक ही पोजीशन में पैर के ऊपर पैर रखकर बैठे तो इसे लंबे समय तक अगर बार-बार दोहराते हैं, तो बचना चाहिए आपको इस पोजीशन से क्योंकि इससे प्रेशर रक्तदाब बढ़ सकता है। जिन्हें बीपी की दिक्कत हो अथवा ना हो इस तरह के पोजीशन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

क्रॉसलैंग कर बैठने से रक्त संचार पर असर होता है

इस कारण केवल रक्तचाप नहीं बढ़ता बल्कि रक्त संचार में भी दिक्कतें आने लगती है, अब भी देख सकते हैं की पैरों को दूसरे पैरों के ऊपर रखने से एक दूसरे के संचार मैं प्रभाव होने लगता है, रक्त संचार सही से ना होने की वजह से शरीर में झुनझुनाहट और सुन्नता होने की समस्या पैर में बढ़ जाती है।

कैशलेस से जॉइंट में दिक्कत आती है

क्रॉस लेग कर लगातार बैठने से जॉइंट्स में खिंचाव के साथ-साथ उस में दर्द होने की समस्या उत्पन्न होने लगती है। दर्द से छुटकारा के लिए आपको लगता होगा कि टहलते हैं व्यायाम करते हैं और योगा तक कर लेते हैं, लेकिन क्यों जॉइंट्स मैं pain से राहत नहीं हो पाते हैं, यह cross-leg रहने के बैठने के कारण हो सकता है ऐसा माना जाता रहा है।

क्रॉस लेग में रहने से कमर में दर्द होती है

हमेशा उठते समय या बैठते समय कमर के निचले हिस्से में दर्द होना तथा जाकरण का एहसास होना, अगर यह आपको होता रहा है तो क्रॉस लैग मे न बैठे इसे आज ही ऐसी स्थिति से बैठने को बंद कर दें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here