शेखपुरा से गुजरात में 30 लाख की साइबर ठगी करने वाला गिरफ्तार, शेखपुरा जिले के शेखोपुरसराय थाना क्षेत्र के आधा दर्जन गांवों में साइबर ठगी का कारोबार करने वालों में दो को पकड़ा गया है।

वे एक गुजराती व्यापारी से 30 लाख रुपये की साइबर ठगी के आरोपी हैं। यहां पहुंची गुजरात की पुलिस ने स्थानीय पुलिस की मदद से गुरुवार की रात्रि में छापेमारी कर दोनों को गिरफ्तार किया। कोर्ट में पेशी के बाद गुजरात पुलिस एक आरोपी को ट्रांजिट रिमांड पर अपने साथ लेकर गई।

साइबर ठगी करने वाला गिरफ्तार - जिला शेखपुरा
साइबर ठगी करने वाला गिरफ्तार – जिला शेखपुरा

दूसरे आरोपी से स्थानीय पुलिस पूछताछ कर रही है। इस संबंध में पुलिस अधीक्षक दयाशंकर ने बताया कि गुजरात पुलिस ने शेखोपुरसराय थाना क्षेत्र के कबीरपुर गांव से संजय कुमार नामक एक युवक को जिला पुलिस के सहयोग से गिरफ्तार किया है। उसे अपने साथ लेकर गई है।

साइबर ठगी करने वाला गिरफ्तार

गिरफ्तार किए गए युवक पर गुजरात के एक व्यक्ति से 30 लाख की ठगी करने का आरोप है। वहीं शेखोपुरसराय थाना पुलिस से मिली जानकारी में बताया गया है कि एक अन्य युवक को भी साइबर ठगी के कारोबार में लिप्त होने की वजह से गिरफ्तार किया गया है।

साइबर ठगी करने वाला गिरफ्तार - जिला शेखपुरा
साइबर ठगी करने वाला गिरफ्तार – जिला शेखपुरा

गुजरात मामले में उसकी संलिप्तता नहीं होने की वजह से उसे गुजरात नहीं भेजा गया है। स्थानीय स्तर पर उससे पूछताछ की जा रही है। ऐसे की गई 30 लाख की ठगी एसपी दयाशकर ने बताया कि ठगी का यह मामला गुजरात के द्वारका जिला के कमल्या थाना क्षेत्र के निवासी बड़े व्यापारी के साथ घटी है।

साइबर ठग ने स्नैपडील कंपनी का कस्टमर केयर प्रतिनिधि बताकर डिनर सेट इनाम जीतने की बात कही और फिर बाद में एक सफारी कार इनाम में जीतने का प्रलोभन देकर व्यापारी से रोड टैक्स तथा रजिस्ट्रेशन के नाम पर साढ़े तीन लाख की ठगी कर ली। इसके बाद व्यापारी से उसके एटीएम का डिटेल गाड़ी भेजने के नाम पर मागा गया और फिर खाते से मोटी रकम उड़ा लिए।

आधा दर्जन गांवों में 100 से अधिक युवा गोरखधंधे में शामिल शेखोपुरसराय थाना क्षेत्र के आधा दर्जन गांवों में एक सौ से अधिक युवक साइबर ठगी के धंधे में संलिप्त बताए जाते हैं। यहां के महमदा, मोहब्बतपुर, पांची, कबीरपुर, मोहसीनपुर इत्यादि गांवों में साइबर ठगी करने वाले युवकों को इस धंधे में संलिप्त पाया जाता है।

ये युवक गांव के खेत और बगीचे में बैठकर मोबाइल से लॉटरी में दस लाख रुपये जीतने अथवा एटीएम आदि की जानकारी पूछ कर ठगी का धंधा चलाते हैं। समय-समय पर छापेमारी में यहां लोगों की गिरफ्तारी भी होती रही है साइबर ठगी करने वाला गिरफ्तार तो हो गया ,पर कारोबार बेरोकटोक जारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here