चीन से बढ़ते तनाव के बीच सीमा पर सड़कों के निर्माण में तेजी लाएगा भारत, भेजेगा 1500 मजदूर. गृह मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, इन सड़कों के निर्माण को और ज्यादा गति दी जाएगी. सड़कों के निर्माण के लिए 1500 मजदूरों को लेह-लद्दाख भेजा जा रहा है.

सड़कों के निर्माण में तेजी लाएगा भारत भेजेगा 1500 मजदूर
सड़कों के निर्माण में तेजी लाएगा भारत भेजेगा 1500 मजदूर

तनाव के बीच सीमा पर सड़कों के निर्माण में तेजी लाएगा भारत

32 सड़कों का निर्माण भारत चीन की सीमा पर होना है, LAC पर चीन के साथ बढ़ते तनाव के बीच भारत ने सीमा पर सड़कों के निर्माण में और तेजी लाने का फैसला लिया है. सूत्रों के मुताबिक, गृह मंत्रालय में बुधवार को बड़ी बैठक हुई. बैठक में बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन (BRO), ITBP, आर्मी, CPWD और गृह मंत्रालय के अधिकारी मौजूद थे.

32 सड़कों का निर्माण भारत-चीन की सीमा पर होना है

इंडो-चाइना बॉर्डर रोड (ICBR)- फेज 2 के तहत 32 सड़कों का निर्माण भारत-चीन की सीमा पर होना है. गृह मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, इन सड़कों के निर्माण को और ज्यादा गति दी जाएगी.

सड़कों के निर्माण के लिए 1500 मजदूरों को लेह-लद्दाख भेजा जा रहा है. कल भी गृह मंत्रालय में भारत-चीन सीमा की सुरक्षा को लेकर अहम बैठक होगी. बता दें कि भारत और चीन के बीच इस समय तनाव चरम पर है.

दोनों देशों के सैनिकों के बीच LAC पर 15 जून को हिंसक झड़प हुई थी. इसमें भारत के 20 सैनिक शहीद हो गए थे. तो वहीं न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक इसमें चीन के भी 43 सैनिक हताहत हुए थे. इसमें कई की मौत हुई तो कई गंभीर रूप से घायल हैं.

सीमा पर बन रही सड़क पर चीन आपत्ति जताता रहा है. कई दफे चीनी सैनिकों ने निर्माण कार्य रोकने की कोशिश की और झड़पें भी हुईं. लेकिन चीन के विरोध को दरकिनार करते हुए भारत ने सड़क निर्माण का कार्य और तेज करने का फैसला लिया.

LAC के पास भारत जहां सड़क निर्माण कर रहा है, उस इलाके में पहले कई बार चीनी हेलिकॉप्टर को उड़ते देखा गया था. सीमावर्ती इलाके में भारत के सड़क निर्माण पर विवाद पैदा करने के मकसद से चीन अपने हेलिकॉप्टर भेजता आ रहा है.

हालांकि चीन की इस हरकत पर भारत कड़ी आपत्ति भी दर्ज करा चुका है. बता दें कि सर्दी के बाद से कोरोना संकट शुरू हुआ और इस वजह से लद्दाख में सड़क निर्माण रुक गया था, लेकिन अब इसे तेजी से बढ़ाने का फैसला लिया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here