राष्ट्र के नाम मोदी का संबोधन आज किया गया यह संबोधन 4:00 बजे शुरू किया गया इसमें अनेक सहायता की घोषणा राष्ट्र के नाम मोदी का संबोधन मैं किया गया। जिसमें नवंबर महीने तक 5kg गेहूं चावल और 1kg चना मुफ्त में देने का दावा देश के 80 करोड़ लोगों को किया गया है।

राष्ट्र के नाम मोदी का संबोधन 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज
राष्ट्र के नाम मोदी का संबोधन 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज

राष्ट्र के नाम मोदी का संबोधन

राष्ट्र के नाम मोदी का संबोधन 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज

ऐसे ही ये कयास लगाए जा रहे थे कि कुछ बड़ी घोषणा प्रधानमंत्री मोदी की तरफ से किया जाएगा जिसमें चीन का मामला अहम होने की उम्मीद जताई जा रही थी। कल ही 59 चाइनीस ऐप को सरकार ने भारत में बैन कर दिया है यह संकेत था पक्का कुछ बड़ा होने वाला है। आखिर राष्ट्र के नाम मोदी का संबोधन जो था।

लेकिन आज राष्ट्र के नाम मोदी का संबोधन मैं मोदी ठीक 4:00 बजे आए और 16 मिनट तक उन्होंने राष्ट्र के नाम संबोधन किया जिसमें एक बार भी चीन का जिक्र भी नहीं किया। यह राष्ट्र के नाम मोदी का संबोधन 103 दिनों के भीतर दूसरा सबसे छोटा संबोधन निकला इससे पहले मोदी ने पांच और संबोधन किया था।

प्रधानमंत्री मोदी के द्वारा इस संबोधन में दो मुख्य बातें कही गई। जिसमें पहली बात थी दीपावली और छठ पूजा तक गरीबों को मुफ्त में दिए जाने वाली अन्न योजना को बढ़ाया जाए। और इसे नवंबर महीने तक कर दिया जाए। इनकी घोषणा कुछ राजनीतिक लग रही थी क्योंकि का राष्ट्रीय पर्व छठ होता है। और यहां बिहार में होने वाले आगामी चुनाव नवंबर और दिसंबर के महीने में होने वाला है। इसलिए इस घोषणा को चुनावी लॉलीपॉप कहा जा सकता है।

प्रधानमंत्री की दूसरी बात थी बदलता मौसम और अनलॉक होता देश मैं संयम और एतिहात बरतने की राष्ट्र के नाम मोदी का संबोधन मैं उन्होंने कहा कि हमें सर्दी जुकाम के बढ़ने पर अब ज्यादा संयम और एतिहात बरतने की जरूरत है हम और ज्यादा लापरवाह हो गए हैं। गमछा मास्क सोशल डिस्टेंसिंग फेसकवर सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना अत्यंत जरूरी हो गया है।

राष्ट्र के नाम मोदी का संबोधन जो अब तक किया गया

  • मोदी का पहला संबोधन 19 मार्च 2020 को किया गया जिसमें जनता कर्फ्यू लगाया गया।
  • मोदी का दूसरा संबोधन 24 मार्च 2020 को किया गया जिसमें पूरे देश में 21 दिनों का लॉकडाउन हुआ।
  • मोदी का तीसरा संबोधन 3 अप्रैल 2020 को किया गया जिसमें पूरे देश में दीप जलाकर दिवाली मनाई गई।
  • मोदी का चौथा संबोधन 14 अप्रैल 2020 को किया गया जिसमें देश में एक बार फिर से लॉकडाउन 2 की घोषणा की गई।
  • मोदी का पांचवा संबोधन 12 मई 2020 को किया गया जिसमें 20 लाख करोड़ रुपए की आर्थिक पैकेज का ऐलान किया गया साथ में लॉकडाउन 4.0 भारत में लगाया गया।
  • मोदी का छठवां संबोधन 30 जून 2020 को किया गया जिसमें गरीब कल्याण अन्न योजना की समय अवधि बढ़ाई गई आज नवंबर 2020 तक किया गया।

गरीब कल्याण अन्न योजना के फायदे

  • देश के हर गरीब परिवार के प्रत्येक सदस्य को 5 किलो गेहूं और चावल एवं 1 किलो चना नवंबर 2020 तक मुफ्त में दिया जाएगा।
  • 80 करोड़ गरीब परिवार के सदस्यों को इसका फायदा 5 महीने लगातार नवंबर 2020 तक मिलेगा।
  • 5 महीनों में इस योजना में आने वाले वाली कुल खर्च 90000 करोड़ रुपए से ज्यादा होने का अनुमान है।
  • गरीब कल्याण अन्न योजना की शुरुआत लॉकडाउन में किया गया था। जिसमें 60 करोड़ रुपए का खर्च इन 3 महीनों में किया गया।
  • 3 महीनों में हर गरीब परिवार को 5 किलो गेहूं चावल और 1 किलो दाल मिलता था।

भारत में अब तक दिए गए मुफ्त अनाज की संख्या ब्रिटेन की जनसंख्या से 12 गुना यूरोपीय यूनियन की आबादी के 2 गुने और अमेरिका की जनसंख्या के ढाई गुना से अधिक लोगों को भारत में मुफ्त में अनाज दिया गया है ऐसा दावा राष्ट्र के नाम मोदी का संबोधन मैं प्रधानमंत्री मोदी ने किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here