राम मंदिर ट्रस्ट की पहली बैठक में कौन लोग शामिल  हुए और किसे कोन सा पद मिला जानें
अयोघ्‍या के राम जन्मभूमि ट्रस्ट के प्रमुख पाराशरण जी के घर पर बुधवार को राम मंदिर ट्रस्ट एक पहली बैठक हुआ था। जिसमें  राम जन्मभूमि के न्यास महंत, नृत्य गोपाल दास, इस ट्रस्ट के अध्यक्ष एवं विश्व हिंदू परिषद के महासचिव चंपत राय होंगे इसका फैसला लिया गया।

राम मंदिर के कोषाध्‍यक्ष गुरू पांडुरंग अठावले शिष्य रह चुके स्वामी गोविंद देव गिरि को बनाया गया। अयोघ्‍या के राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन एवं पूर्व कैबिनेट के सचिव नृपेंद्र मिश्र को बनाया गया।

राम मंदिर ट्रस्ट की पहली बैठक में कौन लोग शामिल  हुए और किसे कोन सा पद मिला जानें


उत्तर प्रदेश सरकार के अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी को पदेन सदस्य बनाया गया है। हम बता दे कि यें प्रसिद्घ लोकगायिका मालिनी अवस्थी के पति भी हैं। और अयोध्या मे तैनाक डीएम अनुज कुमार झा को मंदिर श्री रामजन्मभूमि के तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के पदेन सदस्य के रूप में इन्हें भी शामिल किया है।

15 तारीख को होनी है ट्रस्ट की बैठक, इसमें तय होगी मंदीर के निर्माण की तारीख


15
दिनो के बाद अयोध्या में राम मंदिर ट्रस्ट की बैठक होगी। राम मंदिर निर्माण समिति अपनी रिपोर्ट समिती को देगी। इनके द्वारा जो रिपोर्ट पेश कि जाऐगी उसी के आधार पर हीं मंदिर के निर्माण की तिथी भी तय की जानी है। अयोध्या मंदिर के लिए भारतीय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में राम मंदिर ट्रस्ट के लिए बैंक अकाउंट भी खोला जाएगा।
इस एकाउंट का संचालन गोविंद देव गिरी, चंपत राय और डॉ. अनिल कुमार मिश्र में से इनमें से किसी दो का एक साथ संयुक्त हस्ताक्षर से होगा। दिल्ली के फर्म वी. शंकर अय्यर  कंपनी को इस ट्रस्ट के चार्टर्ड एकाउंटेंट के का पदभार सोपा गया है, जो जो राम मंदिर ट्रस्ट का हिसाब-किताब देखेगी।
नृत्य गोपाल दास ने कहा इस मंदीर सभी लोगों के भावनाओं का आदर किया जाएगा। और बहुत जल्द इस राम मंदिर का निर्माण किया जाऐगा।

राम मंदिर ट्रस्ट की पहली बैठक में कौन लोग शामिल  हुए

ट्रस्ट की आज इस पहली बैठक में केंद्र सरकार के प्रतिनिधि अतिरिक्त सचिव गृह विभाग ज्ञानेश कुमार, एवं उत्तर प्रदेश कि सरकार के प्रतिनिधि कर रहे अवनीश अवस्थी और अयोध्या में तैनाक डीएम अनुज कुमार झा, स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती, स्वामी परमानंद महाराज स्वामी नृत्य गोपाल दास, स्वामी विश्वप्रसन्न तीर्थ महाराज, गोविंद देवगिरि, महंत दिनेंद्र दास, और विमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्र, कामेश्वर चौपाल, अनिल मिश्र जैसे लोग इस बैठक में मौजूद थे।

किसी कारण अगर कोई सदस्य हटना चाहे तब इस स्थिति में क्या किया जाऐगा?


मंदिर निर्माण के पहले यह बाद में अगर कोई सरकारी पदेन सदस्य जैसे कि कलेक्टर का तबादला कहीं और हो जाता है तब इसके स्‍थान पर नये आने वाले कलेक्‍टर जिसे तैनात किया जाऐगा उसी अफसर को पदेन सदस्य बनाया जाऐगा। और अगर कोई स्थाई सदस्य हटता है तब इस स्थिति में ट्रस्ट के बाकी सभी सदस्य मिलकर इसकी जगह किसी को नियुक्त करने का अधिकार होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here