बिहार की राजनीति गरमाई, राजनीति में बेरोजगारी हटाओ यात्रा की शुरुआत

 
बिहार की राजनीति गरमाती जा रही है, उस पर इस गरमाती राजनीति में बेरोजगारी हटाओ यात्रा की शुरुआत की जा रही है। बस हाईटेक हुआ तैयार अति पिछड़ा हुआ शिकार का पोस्टर लग गया है, घर में भी कहीं ना कहीं हिंदुत्व और पाकिस्तान जैसे स्वर बुलंद हो रही है, राजनीति के दौरान आरजेडी के सांसद और वरिष्ठ नेता मनोज झा जी का कहना है कि अधिकारों का हनन को देखा जा रहा है।


बिहार की राजनीति गरमाई, राजनीति में बेरोजगारी हटाओ यात्रा की शुरुआत

 

कागज के नाम पर सीएए, एनआरसी, NPR जैसे मुद्दों की वजह से गरीब को अंधेरे में धकेलने का कार्य किया जा रहा है। कोई भी मुद्दा प्रबल नहीं होने के कारण प्रतिपक्ष ने एक मुद्दा लिया कि बेरोजगारी हटाओ उन्होंने कहा कि बेरोजगारी के दंश से आपको मुक्ति चाहिए तो, आप भी इस कैंपेन में शामिल हो जाइए।
उन्होंने कहा कि मैं गंभीरता पूर्वक कहता हूं, की बेरोजगारी का आलम तो है, उसका चरम परिणीति बिहार में देखी जा सकती है। इसे हटाने में आपकी दिलचस्पी है तो नीतीश जी से कहूंगा, कि आप भी इसमें शामिल हो जाएं।
शराबबंदी गरीबी में तब्दील हो जाए, बिहार के जेलों में आज जो भी है गरीब तबके के लोग हैं अत्यंत पिछड़ा जेल में है, और बेल के लिए दर-दर का ठोकर खाना पड़ रहा है। गांधीजी की शराबबंदी का मर्म नीतीश जी समझ नहीं पाते ऐसा उन्होंने कहा आज बेरोजगारी हटाओ की अभियान आज चल रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here