भारत के खिलाफ नेपाल को समर्थन देने के बाद पाकिस्तान अब लद्दाख में चीन के साथ जारी टकराव पर खुलकर सामने आ गया है. पाकिस्तान ने लगाई आग कहा कि भारत लद्दाख में जो कर रहा है, उसे चीन बर्दाश्त नहीं कर सकता है. हालांकि, पाकिस्तान का यह रुख चौंकाने वाला नहीं है लेकिन द्विपक्षीय मामलों में पाकिस्तान ने आग लगाने का काम किया है जिससे कि भारत-चीन के बीच तनाव बढ़ सके इस तरह कूदना शायद पहली बार हो रहा है.

पाकिस्तान ने लगाई आग भारत-चीन के तनाव में
पाकिस्तान ने लगाई आग भारत-चीन के तनाव में

पाकिस्तान ने लगाई आग कैसे क्या कहा कुरैशी ने

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा है कि चीन से हालिया संघर्ष के लिए भारत ही जिम्मेदार है क्योंकि लद्दाख में उसकी ओर से शुरू किए गए अवैध निर्माण कार्य के बाद ही यह विवाद शुरू हुआ. रेडियो पाकिस्तान की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान ने लगाई आग कुरैशी ने कहा कि चीन वार्ता के जरिए विवाद को सुलझाना चाह रहा था।

लेकिन वह भारत के अवैध निर्माण पर अनजान नहीं बन सकता था. चीन ने वैश्विक समुदाय को भी भारत की शत्रुतापरक नीतियों का संज्ञान लेने के लिए कहा था. पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने सरकारी टीवी चैनल से बातचीत में विवादित क्षेत्र लद्दाख में भारत के सड़क और हवाईपट्टियां बनाने को लेकर चिंता जताई.

इसे पढ़ें :- नेपाल ने पहले दिखाई आंख फिर खींचे कदम: नक्शा विवाद

कुरैशी ने कहा कि नई दिल्ली की अपने पड़ोसियों के प्रति आक्रामक नीति क्षेत्रीय स्थिरता और शांति को खतरे में डाल रही है. कुरैशी ने कहा, पिछले साल नई दिल्ली ने कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म कर दिया था. उसके इस कदम से कश्मीर की जनसांख्यिकी स्वरूप को बदलने के भारत के इरादे का साफ पता चल गया था.

कुरैशी ने ये भी दावा किया कि भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ अफगानिस्तान की जमीन का इस्तेमाल किया. एक अलग बयान में कुरैशी ने कहा, दुनिया को भारत के इरादों का संज्ञान लेना चाहिए, वो आखिर किस तरफ आगे बढ़ रहा है?

पाकिस्तान ने लगाई आग कहा भारत को नेपाल के साथ समस्या: कुरैशी

पाकिस्तान ने लगाई आग भारत-चीन के तनाव में
पाकिस्तान ने लगाई आग भारत-चीन के तनाव में

कुरैशी ने कहा, कभी भारत को नेपाल के साथ समस्या हो जाती है तो कभी वह अफगान शांति प्रक्रिया को बाधित करने की कोशिश करता है. बलूचिस्तान में अशांति को भी भारत प्रोत्साहित करना चाहता है. लद्दाख में भी भारत ने यही किया और अब चीन पर दोष मढ़ने की कोशिश कर रहा है.

इसे पढ़ें :- भारत-चीन के बीच सीमा विवाद: ट्रंप बोले अमेरिका मध्यस्थता को तैयार

इससे पहले, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने ट्वीट्स की सीरीज में भारत पर दंभपूर्ण विस्तारवादी नीतियों पर चलने का आरोप लगाया और कहा कि उसकी ये नीतियां पड़ोसी देशों के लिए खतरा बनती जा रही हैं. पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने ट्वीट किया, “हिंदुत्व सुप्रेमेसिस्ट मोदी सरकार की अहंकार से पूर्ण विस्तारवादी नीतियों के साथ भारत पड़ोसी देशों के लिए खतरा बन गया है.

बांग्लादेश को नागरिकता संशोधन कानून

बांग्लादेश को नागरिकता संशोधन कानून के जरिए और नेपाल-चीन के लिए सीमा विवाद से भारत खतरा पेश कर रहा है. वहीं, पाकिस्तान के खिलाफ भारत झूठे फ्लैग ऑपरेशन चलाकर मुश्किलें पैदा कर रहा है.”

नेपाल के बहाने इमरान खान ने कहा

इमरान खान ने नेपाल के बहाने कश्मीर का रोना भी रोया. इमरान ने लिखा, “और भारत ये सब कश्मीर पर अवैध कब्जे, जेनेवा संधि के तहत युद्ध अपराध को अंजाम देने और पाकिस्तान के हिस्से वाले कश्मीर पर दावा पेश करने के बाद कर रहा है.”

इमरान खान ने कहा, “मैंने हमेशा से कहा है कि मुस्लिमों को दोयम दर्जे का नागरिक बनाने वाली मोदी सरकार केवल भारतीय अल्पसंख्यकों के लिए ही नहीं बल्कि क्षेत्रीय शांति के लिए भी खतरा है.” ऐसे शब्दों का प्रयोग कर पाकिस्तान ने लगाई आग भारत-चीन के तनाव में हाथ होने की संभावना बढ़ गई है, ऐसा भी हो सकता है कि उकसाया जा रहा हो कि जो हम न कर सके चीन करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here