परिवहन विभाग में मोटरयान निरीक्षक (एमवीआई) MVI के पद सड़क सुरक्षा के कार्यों में होंगे ये सभी सहायक, परिवहन विभाग द्वारा नए पद सृजित किये गए, बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) द्वारा ली जाएगी परीक्षा, नियुक्ति के लिए 11 मई से स्वीकार किये जायेंगे ऑनलाइन आवेदन।

परिवहन विभाग 26 मई तक कर सकेंगे आवेदन

परिवहन विभाग में मोटरयान निरीक्षक के 90 पदों पर बहाली होगी
परिवहन विभाग में मोटरयान निरीक्षक के 90 पदों पर बहाली

परिवहन विभाग बीपीएससी के वेबसाइट पर आवेदन के लिए उपलब्ध रहेगा लिंक परिवहन सचिव श्री संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि जिलों में वाहनों की जांच में मोटर वाहन निरीक्षकों की कमी अब पूरी हो पायेगी। 

एमवीआई MVI के रिक्त पदों की वजह से ड्राइविंग टेस्ट जांच, वाहन फिटनेस जांच, वाहन जांच आदि का कार्य प्रभावित होता था।

कई जिलों में एक एमवीआई 2-2 जिलों के प्रभार में रहते हैं, जिलों में वाहनों की जांच, स्कूल बस जांच, ड्राइविंग टेस्ट जांच और वाहन फिटनेस जांच आदि के लिए मोटर वाहन निरीक्षकों (एमवीआई) की अब कमी नहीं रहेगी।

परिवहन विभाग में मोटरयान निरीक्षक (एमवीआई) MVI के 90 पद

परिवहन विभाग द्वारा नए पद को सृजित किया गया है। एमवीआई के रिक्त 90 पदों पर बहाली होगी। इसके लिए 11 मई से ऑनलाइन आवेदन लिए जाएंगे, नियुक्ति की प्रक्रिया बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा की जाएगी।

परिवहन सचिव श्री संजय कुमार अग्रवाल ने बताया की मोटर वाहन निरीक्षकों की कमी से वाहन जांच, वाहनों की फीटनेस जांच, दुर्घटना वाले वाहनों का स्पॉट वेरीफिकेशन आदि कार्य प्रभावित हो रहा है।

कुछ मोटर वाहन निरीक्षकों को दूसरे जिला का अतिरिक्त प्रभार भी मिला है। ऐसी स्थिति में वाहनों की जांच, फिटनेस की जांच और संबंधित कार्य कराने में परेशानी होती है।

एमवीआई के 90 पदों पर बहाली होने के बाद वाहनों की जांच प्रक्रिया में तेजी आयेगी इसके साथ ही सड़क सुरक्षा के कार्यों में भी इनकी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी रहेगी।

परिवहन सचिव ने बताया की 2007 के बाद पहली बार परिवहन विभाग में एमवीआई के 90 पदों के लिए वैकेंसी आई है, एमवीआई के 90 पदों में अनारक्षित वर्ग के लिए 26, आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए 6, अनुसूचित जाति के लिए 20, अनुसूचित जनजाति के लिए 2, अत्यंत पिछड़ा वर्ग के लिए 22, पिछड़ा वर्ग के लिए 10 एवं पिछड़े वर्ग की महिलाओं के लिए 4 सीटें आरक्षित हैं।

1शैक्षणिक योग्यता

1. किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से दसवीं कक्षा पास।

2. केंद्रीय सरकार या राज्य सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त किसी संस्थान द्वारा प्रदान किया गया ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा (3 वर्षीय पाठ्यक्रम) या

यांत्रिक इंजीनियरिंग में डिप्लोमा (3 वर्षीय पाठ्यक्रम ).

3. गियर वाली मोटरसाइकिल और हल्के मोटरयान चलाने के लिए अधिकृत चालन अनुज्ञप्ति का धारण करना। प्रशिक्षु चालन अनुज्ञप्ति मान्य नहीं होगा।

चयन प्रक्रिया

 लिखित परीक्षा एवं साक्षात्कार के आधार पर होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here