दो हफ्ते में एक बार उपवास करें आपका शरीर प्राकृतिक चक्र से जुड़ा ‘मंडल’ नाम की एक चीज होती है। मंडल का मतलब है कि हर 40 से 48 दिनों में शरीर एक खास चक्र से गुजरता है। ऐसे में आप दो हफ्ते में एक बार उपवास कर सकते हैं क्योंकि हर चक्र में तीन दिन ऐसे होते हैं जिनमें आपके शरीर को भोजन की आवश्यकता नहीं होती।

अगर आप अपने शरीर को लेकर सजग हो जाएंगे तो आपको खुद भी इस बात का अहसास हो जाएगा कि इन दिनों में शरीर को भोजन की जरूरत नहीं होती। इनमें से किसी भी एक दिन आप बिना भोजन के आराम से रह सकते हैं।

दो हफ्ते में एक बार उपवास करें
दो हफ्ते में एक बार उपवास करें

दो हफ्ते में एक बार उपवास क्यों करें

11 से 14 दिनों में एक दिन ऐसा भी आता है, जब आपका कुछ भी खाने का मन नहीं करेगा। उस दिन आपको नहीं खाना चाहिए। आपको यह जानकार हैरानी होगी कि कुत्ते और बिल्लियों के अंदर भी इतनी सजगता होती है।

कभी गौर से देखें, किसी खास दिन वे कुछ भी नहीं खाते। दरअसल, अपने सिस्टम के प्रति वे पूरी तरह सजग होते हैं। जिस दिन system कह देता है.

आज खाना नहीं चाहिए. वह दिन भर खाना पीना त्याग देते हैं और उनके लिए शरीर की सफाई का दिन बन जाता है और उस दिन वे कुछ भी नहीं खाते। जिससे कि शारीर की आंतरिक सफाई हो सके।

दो हफ्ते में एक बार उपवास करने खास दिन

अब आपके भीतर तो इतनी जागरूकता नहीं कि आप उन खास दिनों को पहचान सकें। फिर क्या किया जाए! जिससे दो हफ्ते में एक बार उपवास कर सकें, बस इस समस्या के समाधान के लिए अपने यहां एकादशी का दिन तय कर दिया गया।

दो हफ्ते में एक बार उपवास कैसे करें

हिंदी महीनों के हिसाब से देखें तो हर 14 दिनों में एक बार एकादशी आती है। इसका मतलब हुआ कि हर 14 दिनों में आप एक दिन बिना खाए रह सकते हैं और आप इस तरह से दो हप्ते में एक बार उपवास कर सकते है.

दो हफ्ते में एक बार उपवास करें
दो हफ्ते में एक बार उपवास करें

फिर भी अगर आप बिना कुछ खाए रह ही नहीं सकते, तो दो हफ्ते में एक बार उपवास इस तरह भी किया जा सकता है या आपका कामकाज ऐसा है.

जिसके चलते भूखा रहना आपके वश में नहीं और भूखे रहने के लिए जिस साधना की जरूरत होती है, वह भी आपके पास नहीं है, तो आप फलाहार ले सकते हैं।

उदाहरण स्वरूप सेव,केला,अमरुद मौसमी फल सिजनुसार फल से फलाहार कर सकते है. कुल मिलाकर बात इतनी है कि बस अपने सिस्टम के प्रति जागरूक हो जाएं।

बार बार चाय और कॉफी का आदि होना

अगर आप बार-बार चाय और कॉफ़ी पीने के आदी हैं और उपवास रखने की कोशिश करते हैं तो आपको बहुत ज्यादा दिक्कत होगी।

इस समस्या का तो एक ही हल है। अगर आप दो हफ्ते में एक बार उपवास रखना चाहते हैं तो सबसे पहले अपने खानपान की आदतों को सुधारें।

क्यों नहीं कर सकते दो हफ्ते में एक बार उपवास

पहले सही तरह का खाना खाने की आदत डालें, तब दो हप्ते में एक बार उपवास की सोचें। अगर खाने की अपनी इच्छा को आप जबर्दस्ती रोकने की कोशिश करेंगे तो यह आपके शरीर को हानि पहुंचाएगा। यहां एक बात और बहुत महत्वपूर्ण है कि किसी भी हाल में जबर्दस्ती न की जाए।

जबरदस्ती न करें दो हफ्ते में एक बार उपवास

अगर आप जबर्दस्ती दो हफ्ते में एक बार उपवास करते तो आपको अनेकों उलझनों का सामना करना पर सकता है जैसे पेट में दर्द का होना, सर दर्द, पेट में गैस, शरीर में कमजोरी का महसूस होना, सर में चक्कर का अनुभव आदि रोगों का समाना करना पर सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here