दिल्ली पुलिस ने कांग्रेश पार्टी के पूर्व पार्षद इशरत जहां को आज गिरफ्तार किया गया


पिछले दिनों दिल्ली में हुए हिंसा के कारण दिल्ली पुलिस ने अब करा रुख अपनाया है इसी कड़ी में आज कांग्रेस पार्टी के पूर्व पार्षद इशरत दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दिल्ली हिंसा जहां-जहां फैला था वहां भी हालात शांत है और सिचुएशन समान हो रही है यह दंगा जो भी भड़काना चाहता है पुस्तक पुलिस की पैनी नजर है।

दिल्ली पुलिस ने कांग्रेश पार्टी के पूर्व पार्षद इशरत जहां को आज गिरफ्तार किया गया




दिल्ली के पूर्वी उत्तरी इलाके में पिछले कुछ दिन पहले हुए हिंसा के कारण पुलिस ने कड़ा रुख अपनाया है इसके तहत दिल्ली के पूर्व पार्षद इशरत जहां दिल्ली के जगतपुरी इलाके में दंगे के कारण आज गिरफ्तार कर लिया है।

हमारे रिपोर्टर को मिली जानकारी के अनुसार विकास कुमार सिन्हा ने बताया कि सोमवार और मंगलवार को शाहदरा के जगतपुरी इलाके में सांप्रदायिक हिंसा का दंगा हुआ था। इसका आरोप दिल्ली के कांग्रेस पार्टी के पूर्व पार्षद इशरत जहां पर लगा है इशरत जहां का उपनाम पिंकी भी है।

इसके तहत पुलिस ने आज ही ने पहले तो हिरासत में लिया फिर इन पर केस कर गिरफ्तार करके कोर्ट में पेश किया गया। हम बता दें इशरत जहां पेशे से एक वकील भी हैंं। रोनी अपनी अर्जी कोट मे लगाई लेकिन कोर्ट ने उन्हें न्यायिक हिरासत में लेकर जेल भेज दिया। और इनकी अर्जी को खारिज कर दिया।

26 फरवरी 2020 को जगतपुरी मैं पुलिस पर पथराव और गोलियां चलाई गई इनके ऊपर जो केस हुआ है वह एक सब इंस्पेक्टर के बयान पर किया गया है। हम बता दें इसमें इशरत जहां के अलावा भी और बहुत सारे लोगों पर केस दर्ज किया गया है। 

अप पुलिस के द्वारा उन्हें आरोपी बनाया गया है सभी के खिलाफ हत्या दंगा भड़काऊ भाषण इत्यादि के तहत अन्य धाराएं लगाए गए हैं कुछ लोग लोगों की गिरफ्तारी भी हो गई है और कुछ कि अभी छानबीन की जा रही है।

हमारे रिपोर्टर विकास कुमार के मुताबिक पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार इशरत जहां पर भीड़ को उकसाने का आरोप लगा है। इशरत जहां पर या आरोप है उन्होंने अपने भाषण में कहा है चाहे हम मर ही क्यों ना जाएं हम यहां से नहीं हटेंगे हम अपनी आजादी लेकर रहेंगे चाहे पुलिस कुछ भी कर ले।

वही खालिद पर आरोप है कि खालिद ने भीड़ को कहा की पुलिस पर पथराव करो भीड़ अपने आप ही भाग जाएगी। यह सुनते ही भीड़ ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया था ऐसा पुलिस ने इन पर आरोप लगाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here