तांबे के बैक्टीरिया-नाशक गुणों में मेडिकल साइंस की बड़ी गहरी रुचि हो रही है। तांबे के बर्तन में पानी पीने से फायदे क्‍या हैं पिछले कुछ वर्षों में इस पर कई प्रयोग हुए हैं और वैज्ञानिकों ने यह मालूम किया है कि तांबे के बर्तन में पानी पीने से फायदे होते हैं तांबे के बर्तन में पानी पीने से उसकी अपनी याददाश्त होती है, यह हर उस चीज को याद रखता है जिसको यह छूता है। पानी की अपनी स्मरण-शक्ति होने के कारण हम इस बात पर ध्यान देते हैं कि उसको कैसे बर्तन में रखें।

उपवास करने से पहले यह आदत डाल ले

पहले सही तरह का खाना खाने की आदत डालें, तब तांबे के बर्तन में पानी पीने के बाद उपवास की सोचें। अगर खाने की अपनी इच्छा को आप जबर्दस्ती रोकने की कोशिश करेंगे तो यह आपके शरीर को हानि पहुंचा सकता है।

पानी को तांबे के बर्तन में पीने से उसके गुण

तांबे के बर्तन में पानी पीने से फायदे
तांबे के बर्तन में पानी पीने से फायदे

अगर आप पानी को रात भर या कम-से-कम चार घंटे तक तांबे के बर्तन में रखें तो यह तांबे के कुछ गुण अपने में समा लेता है। ताम्बे के बर्तन से पानी पीएं यह पानी खास तौर पर आपके लीवर के लिए और आम तौर पर आपकी सेहत और शक्ति-स्फूर्ति के लिए उत्तम होता है।

पानी के रगड़ से दोष उत्पन्न होता है

अगर पानी बड़ी तेजी के साथ पंप हो कर अनगिनत मोड़ों के चक्कर लगाकर लोहे या प्लास्टिक की पाइप के सहारे आपके घर तक पहुंचता है तो इन सब मोड़ों से रगड़ाते-टकराते गुजरने के कारण उसमें काफ़ी दोष आ जाता है।

लेकिन पानी में याददाश्त के साथ-साथ अपने मूल रूप में वापस पहुंच पाने की शक्ति भी होती है। अगर आप नल के इस पानी को एक घंटे तक बिना हिलाये-डुलाये रख देते हैं तो दोष अपने-आप खत्म हो जाता है।

तांबे के बर्तन में पानी पीने से डाइजेशन सिस्टम करे दुरूस्त

तांबा पेट, लिवर और किडनी सभी को डिटॉक्स करता है. इसमें ऐसे गुण मौजूद होते हैं जो पेट को नुकसान पहुंचाने वाले बैक्टिरिया को मार देते हैं, जिस वजह से तांबे के बर्तन में पानी पीने से पेट में कभी भी अल्सर और इंफ्केशन नहीं होता. इसके साथ ही तांबा पेट संबंधी बीमारियां जैसे एसिडिटी और गैस से भी बचाता है. इसीलिए रोज़ाना

  • सुबह खाली पेट तांबे के बर्तन में पानी एक बड़ा ग्लास पानी पीएं.
  • तांबे के बर्तन में पानी पीने से अर्थराइटिस और जोड़ों के दर्द से दे राहत
तांबे के बर्तन में पानी पीने से फायदे
तांबे के बर्तन में पानी पीने से फायदे

तांबे में मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज़ दर्द से राहत दिलाती है, खासकर जोड़ों के दर्द में इसीलिए तांबे के बर्तन में पानी पीने से अर्थराइटिस और जोड़ों के दर्द से परेशान लोगों को ज़रूर पीना चाहिए. इसके साथ ही तांबा हड्डियों और इम्यून सिस्टम को भी स्ट्रॉंग बनाता है.

तांबे के बर्तन में पानी पीने से लंबे समय तक रह सकते हैं जवां

तांबे में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स चेहरे की फाइन लाइन्स और झाइयों को खत्म करता है. ये फाइन लाइन्स को बढ़ाने वाले सबसे बड़े कारण यानी फ्री रैडिकल्स से बचाकर स्किन पर एक सुरक्षा लेयर बनाता है, इसीलिए तांबे के बर्तन में पानी पीने से लंबे समय तक रह सकते हैं जवां।

वज़न करे कम तांबे के बर्तन में पानी पीने से

अगर आपको जल्दी वज़न कम करना है तो तांबे के बर्तन में पानी पीएं. ये पानी आपके डाइजेस्टिव सिस्टम को बेहतर कर बुरे फैट को शरीर से बाहर निकालता है. ये पीने शरीर में सिर्फ ज़रूरी फैट्स रखने में मदद करता है.

तांबे के बर्तन में पानी पीने से घाव को करे जल्दी ठीक

तांबे में मौजूद एंटी-वाइरल, एंटी- बैक्टिरियल और एंटी-इंफ्लेटरी प्रॉपर्टीज़ किसी भी तरह के घाव और जख्म को जल्दी भरने में मदद करती है. ये इम्यून सिस्टम को स्ट्रॉंग कर नये सेल्स बनाता है, जिस वजह से घाव जल्दी भर जाते हैं. बाहरी घाव से जल्दी तांबे का पानी अंदरूनी घाव को ठीक करता है, खासकर पेट के घाव को जल्द राहत देता है।

तांबे के बर्तन में पानी पीने से होती है आंतरिक सफाई

शरीर की आंतरिक सफाई के लिए तांबे का पानी कारगर होता है। इसके अलावा यह लिवर और किडनी को स्वस्थ रखता है और किसी भी प्रकार के इंफेक्शन से निपटने में तांबे के बर्तन में रखा पानी लाभप्रद होता है।

दिल को स्वस्थ रखता है तांबे के बर्तन का पानी

दिल को स्वस्थ बनाए रखकर ब्लड प्रेशर को नियंत्रित कर यह बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। इसके अलावा यह हार्ट अटैक के खतरे को भी कम करता है। यह वात, पित्त और कफ की शिकायत को दूर करने में मदद करता है।

एनीमिया की समस्या को करता है दूर

एनीमिया की समस्या होने पर तांबे में रखा पानी काफी लाभदायक होता है। यह भोज्य पदार्थों से आयरन को आसानी से सोख लेता है। जो एनीमिया से निपटने के लिए बेहद जरूरी है।

मस्तिष्क को उत्तेजित कर सक्रिय बनाए रखती है तांबे के बर्तन का पानी

मस्तिष्क को उत्तेजित कर उसे सक्रिय बनाए रखने में तांबे का पानी बहुत सहायक होता है। इसके प्रयोग से स्मरणशक्ति मजबूत होती है, और दिमाग तेज होता है।

स्मरणशक्ति मजबूत होती है तांबे के बर्तन का पानी पीने से

आप खुद ही नहीं बल्कि अपने बच्‍चों और घर के बड़े बूढ़ों को भी तांबे के बर्तन में रखा पानी पिला सकती हैं। क्‍योंकि यह स्‍मरणाशक्ति को तेज करने में भी अहम भूमिका निभाता है। बच्‍चों को रोज सुबह उठकर तांबे के बर्तन में रखा हुआ पानी पीने के लिए दें इससे आपके बच्‍चे की स्‍मरणशक्ति तेज होगी और वह पढ़ाई में अच्‍छा रहेगा।

कॉपर की कमी को करता है पूरा तांबे के बर्तन का पानी

मानव शरीर को कई तत्‍वों की जरूरत होती है। यह सारे तत्‍व खाने पीने की चीजों में उपलब्‍ध होते हैं। मगर, कई बार अच्‍छा भोजन करने के बावजूद कुछ तत्‍वों की शरीर में कमी रह जाती है। इनमें से एक है कॉपर अगर आपके शरीर में कॉपर की कमी हैं तो आपको कॉपर के बर्तन में रखा हुआ पानी जरूर पीना चाहिए।

इससे आपके शरीर में मौजूद कॉपर की कमी भी पूरी हो जाती है और कॉपर की वजह से शरीर में पैदा होने वाले जीवाणुओं का अंत भी हो जाता है। आपको बता दें कि तांबे के बर्तन में रखा हुआ पानी बेहद शुद्ध होता है।

साधारण पानी में डायरिया, पीलिया आदि बीमारी को उत्‍पन्‍न करने वाले जीवाणूं को नष्‍ट करने की क्षमता नहीं होती है मगर तांबे के पानी में इन बैक्‍टीरिया से लड़ने की ताकत होती है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here