जानते हैं कि क्या होता है हाईपरकेपनिया के बारे में, मास्क को ज्यादा देर तक मुंह पर लगाए रखने से हो सकती है, हाइपरकेपनिया। हाईपरकेपनिया के लक्षण क्‍या होती हैं।

हाईपरकेपनिया के लक्षण

क्या होता है हाईपरकेपनिया के लक्षण और ऐसे करें बचाव
क्या होता है हाईपरकेपनिया के लक्षण और ऐसे करें बचाव

क्या होता है हाईपरकेपनिया

मास्क पहनने से मुंह और नाक से छोड़ी गई कार्बन-डाइऑक्साइड दोबारा से मुंह और नाक के जरिए फेफड़ों तक जाती है.

क्या होता है हाईपरकेपनिया में अगर ऑक्सीजन की जगह कार्बन डाइऑक्साइड दोबारा शरीर में जाने से लोगों को यह समस्या होती है. और तमाम प्रकार की सांस और हृदय संबंधित समस्याएं होती है.इसे हाईपरकेपनिया कहते हैं.

मास्क लगाना क्यों जरुरी है

कोरोना के बचाव के लिए मास्क लगाना जरूरी है, लेकिन धीरे-धीरे इसका दुष्प्रभाव भी सामने आने लगा है. मास्क को ज्यादा देर तक लगाए रखने से लोग हाइपरकेपनिया का शिकार हो रहे हैं।

उनको सांस लेने में दिक्कत चक्कर आना, घबराहट होना, सिर में दर्द जैसी समस्या सामने आ रही हैं यह गवर्नमेंट मल्टी स्पेशलिस्ट हॉस्पिटल GMSH-16 में इस तरह के कई के केस सामने आएं है.

पीजीआई के पलमोनरी मेडिसिन के सीनियर प्रोफेसर और पद्मश्री डॉक्टर दिगंबर बेहेरा का कहना है की मास्क पहनना बहुत जरूरी है।

लेकिन जब घर के अंदर हैं तो मुंह पर मास्क ना लगाएं अगर ऑफिस या पब्लिक डीलिंग प्लेस पर जा रहे हैं तो लंबे समय तक मास्क ना लगाएं। 15 से 20 मिनट तक मास्क हटाकर अकेले में खुले में सांस लें।

इससे लोगों को सांस लेने में दिक्कत, चक्कर आना, घबराहट होना सिर में दर्द जैसी समस्याएं नहीं होगा।

ऐसे करें बचाव हाईपरकेपनिया से

  1. घर में फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मास्क पहनने से परहेज करें।
  2. सिर्फ घर से बाहर जाते समय ही मास्क पहने।
  3. घर के बाहर थोड़ी देर के लिए अकेले में 15 से 20 मिनट मास्क उतार कर खुले में सांस लें
  4. ऐसे मास्क पहने जिसमें सांस लेने में दिक्कत ना हो
  5. अगर आप ऑफिस में अपनी साथी से फासले पर बैठते हैं तो थोड़ी देर के लिए मास्क ना पहने

अब आप जान चुकें होंगे की क्या होता है हाईपरकेपनिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here